आंकड़े अनुपलब्ध!

ईईएफपी

Printer-friendly version

 

ऊर्जा दक्षता वित्तपोषण मंच (EEFP) :

ऊर्जा दक्षता वित्‍त-पोषण प्लेटफॉर्म (ईईएफपी) को राष्ट्रीय विस्‍तारित ऊर्जा दक्षता मिशन के तहत एक पहल के रूप में शुरू किया गया था ताकि ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं के कार्यान्वयन के लिए वित्तीय संस्थानों (एफआई) और परियोजना विकासकर्ताओं को संवाद के लिए एक मंच उपलब्‍ध कराया जा सके। इस कार्यक्रम के तहत बीईई द्वारा ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं के लिए वित्तपोषण को बढ़ावा देने हेतु मैसर्स पीटीसी इंडिया लिमिटेड, सिडबी, एचएसबीसी बैंक, टाटा कैपिटल और आईएफसीआई लिमिटेड के साथ समझौता-ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए हैं।



वित्‍तीय संस्‍थानों ​​के क्षमता निर्माण के लिए, बीईई ने भारतीय बैंक एसोसिएशन के साथ ऊर्जा दक्षता वित्तपोषण पर प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए एक समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। समझौता-ज्ञापन पर 2015 में हस्ताक्षर किए गए थे और यह प्रशिक्षण कार्यक्रम जून 2015 में शुरू किया गया था। ये कार्यशालाएं दो चरणों में आयोजित की गई हैं। चरण 1 में, 4 टीओटी कार्यशालाएं और 2 प्रत्यक्ष प्रशिक्षण कार्यशालाएं शामिल थीं। चरण 2 में, पूरे भारत में विभिन्न स्थानों (17 राज्यों में शामिल) में वित्‍तीय संस्‍थानों के लिए ईई वित्‍त-पोषण पर 22 प्रत्यक्ष प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की गईं। इन कार्यशालाओं में 72 बैंकों/ एनबीएफसी बैंकों/एनबीएफसी के कुल 682 प्रतिभागियों ने ईई वित्तपोषण पर प्रशिक्षण प्राप्त किया। वर्तमान में, इन प्रशिक्षण कार्यशालाओं का कार्यक्रम 31 मार्च 2019 को समाप्त हो गया है।



वर्तमान में, बीईई, एसडीए के माध्यम से ईई परियोजनाओं/ प्रौद्योगिकियों के वित्तपोषण में तेजी लाने और सुविधा प्रदान करने के लिए भारत के 4 क्षेत्रों में "ऊर्जा दक्षता के लिए निवेश बाजार" का संचालन करने पर काम कर रहा है। इसके अलावा, सभी एसडीए को संबंधित राज्यों में ईई वित्तपोषण में तेजी लाने के लिए वित्‍तीय संस्‍थान समितियों का गठन करने का भी निर्देश दिया गया है ताकि संस्थानों को राज्य स्तर पर वित्तपोषण मुद्दों का समाधान करने में सक्षम बनाया जा सके।

  • प्रकाशन
  • गतिविधियाँ, विकास और कार्यशालाएँ
  • कार्यक्रम के लिए संबंधित बीईई अधिकारी

 

NEEBMA 2015                                                                   NEEBMA Questionnaire