राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार

Printer-friendly version

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार उद्योग और अन्य प्रतिष्ठानों को प्रदान किए जाते हैं और अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में ऊर्जा संरक्षण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विद्युत मंत्रालय द्वारा प्रत्येक वर्ष स्कूली बच्चों के लिए ऊर्जा संरक्षण पर वार्षिक चित्रकला प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं।

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस पुस्तक

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार

 

विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार ने 1991 में एक योजना शुरू की है, जो ऐसे उद्योगों और प्रतिष्ठानों को पुरस्कार देकर राष्ट्रीय मान्‍यता प्रदान करती है, जिन्होंने अपने उत्पादन को बनाए रखते हुए ऊर्जा की खपत को कम करने के लिए विशेष प्रयास किए हैं। यह पुरस्कार पहली बार 14 दिसंबर, 1991 को दिया गया था, जिसे 'राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस' के रूप में घोषित किया गया था। ये पुरस्कार प्रत्‍येक वर्ष 14 दिसंबर को आयोजित एक समारोह में भारत सरकार के उच्च पदों पर आसीन गणमान्य व्यक्तियों द्वारा दिए जाते हैं।

         पिछले वर्षों की तरह, विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार ने ऊर्जा का कुशल उपयोग और संरक्षण करने वाली विभिन्न औद्योगिक इकाइयों/ प्रतिष्ठानों/ संगठनों के प्रयासों को मान्यता देने के लिए “राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार 2018” का आयोजन करने का निर्णय लिया है।